Amazon-Buy the products

Sunday, November 17, 2013

शुक्रिया सचिन !

आयेंगे और भी सचिन मगर सचिन तेंदुलकर एक ही रहेगा ,
क्रिकेट के आकाश में ध्रुव तारे कि तरह चमकता रहेगा ,
क्रिकेट का पर्याय बन कर अलविदा कह गया उसका एक पूजारी ,
बाइस गज कि पिच से अलविदा हो गया उसका एक महान खिलाडी ,
क्रिकेट के लिए तो तुम याद रखे ही जाओगो ,
उससे ऊपर हमें इस खेल का  आदी बनाने के लिए याद आओगे ,
क्रिकेट हम अब भी देखेंगे , हर जीत पर जश्न और हर हार पर गम मनाएंगे ,
मगर पिच पर तुम्हारे आने से जो एक भरोसा जगता था ,
शायद अब वो न कर पाएंगे ,

शुक्रिया सचिन ! ज़िन्दगी कि इस आपाधापी में कुछ ख़ुशी के पल देने के लिए ,
शुक्रिया सचिन ! एक शिखर पर पहुँच कर भी शालीनता का सबक सिखाने के लिए ,
शुक्रिया सचिन ! क्रिकेट के इस खेल को धर्म बनाने के लिए ,
शुक्रिया सचिन ! एक मानव कैसा महामानव बनता हैं दिखाने के लिए .
शुक्रिया सचिन ! हमें अपने में विश्वास सीखाने के लिए .

क्रिकेट कि जब जब बात होगी , हमारी पीढ़ी तुम्हे जरुर याद रखेगी .
हा ! हमने सचिन को खेलते देखा हैं का गुमान करेगी . 

No comments:

Post a Comment