Amazon-Buy the products

Wednesday, March 2, 2016

जब जागो तब सवेरा



वक्त कभी अच्छा या बुरा नहीं होता हैं
वक्त तो बाहें खोले लुटने  को तैयार रहता हैं !!

कोई उसे खुल कर जी लेता हैं
कोई सिर्फ गुजार देता हैं !!

उम्र का हर पड़ाव कुछ करने को बेहतर होता हैं !
क्यूंकि जब जागो तभी सवेरा होता हैं !!

ज़िन्दगी आपकी हैं , आपसे बेहतर इसे कोई नहीं जानता !
खुल के जीइये  ज़िन्दगी को , भगवान ये मौका बार बार नहीं देता !!

ज़िन्दगी को अपनी सीधा और सरल रखिये !
बेफिजूल की चिन्ताओ से अपने को मुक्त करिये !!

कुछ पल खट्टे , कुछ पल मीठे आते रहेंगे !
कही थोड़ी आशा , कही निराशा के छुटमुट बादल छाते रहेंगे !!

मन को अपने मजबूत और तन को स्वस्थ रखिये !
एक लक्ष्य को पूरा करने के लिए अपने को समर्पित करिये !!

कभी देर हुई थी , अब देर हैं !
ज़िन्दगी के लिए फिर एक नया नजरिया पैदा कीजिये !!

ज़िन्दगी हैं तो ज़िंदा रहिये !
मन को हमेशा अपने, बच्चा रखिये  !! 

1 comment:

  1. जब जागो तब सवेरा...........

    ReplyDelete