Amazon-Buy the products

Sunday, March 20, 2016

होली हैं........................

फाल्गुन का महीना , मस्त हुई बयार !
डाल डाल टेसू खिले , रंगो से धरती का हुआ श्रंगार  !!

अबीर गुलाल लेकर हाथो में , सबको करो सरोबार !
भूल कर सब मनभेद , खुल कर खेलो होली इस बार !!

रंगो के इस त्यौहार में सब मतभेद उड़ा दो !
फाल्गुनी रंगो से सबके तन को रंग दो !!

होली के इस त्यौहार में , रंगो की हो बरसात !
बुरा न मानो होली हैं , हास्य की हो फुहार !!

राग छेड़ो प्रेम का , सद्भाव का बनाओ गुलाल !
मस्ती  का अबीर लेकर , कर दो सबको लाल !! 

No comments:

Post a Comment